Rose day shayari

Rose Day Shayari For Girlfriend

जब खिल खिलाके हस्ती है,
मानो सोना बरसता है,
मेरा जीवन गुलदस्ता है
तुम्हारे प्यार का।🌹🌹💕

आज भी वो गुलाब मेरी किताब में है,
जो गुलाब तूने मुझे गिफ्ट में दिया था।🌹🌹💕

कुछ ऐसा है तेरे इश्क का नशा,
जैसे किसी ग्लास में रखी शराब है,
उसको क्या गुलाब दूं जो पहले से ही गुलाब है।🌹🌹💕

कितना महफूज था गुलाब काटों की गोद में,
लोगो की मोहब्बत में पत्ता–पत्ता बिखर गया।🌹🌹💕

गुलाब की पंखुड़ियां भी आज तबाह हो जाएंगी,
किसी के प्यार के खातिर फना हो जाएंगी।

तेरे नाजुक लबों की क्या कहिए,
पंखुड़ियां है गुलाब की,
आरूज है की चूम लूं इन लबों को,
छलकता जिसमे है नशा ए शराब की।

जो खुद पंखुड़ियों सी नाजुक है,
उसे मैं क्या गुलाब दूं,
जो मेरी हर शायरी में है,
उसके नाम के गजल में ऐसा क्या लिख दूं।

Rose Flower Shayari in Hindi

हर पल खूबसूरत लगता है आजकल,
गुलाब में एक चेहरा दिखता है आजकल।

लिख दिए सारे खत हमने मोहब्बत के नाम,
नहीं करते ऐसा तो शायद हम भी मुकर जाते।

गमलों में लगे गुलाब,
ढूंढते भले कोमलताएं,
ना जाने कौन से हाथ,
तोड़ इन्हें ले जाए।

इश्क में सिर्फ अच्छाई दिखती है,
उसकी बुरी बातें नहीं,
दिल सिर्फ गुलाब का फूल देखता है,
उसके काटे नहीं।

तुम रखा करो कोशिश यूं ही गुलाब सा खिलने की,
इस दिल में रहेगी ख्वाहिश तुमसे बार-बार मिलने की।

मोहब्बत ही तो है लोग भूल जाते है दिल लगा के बड़े आराम से,
अक्सर हमने देखा है सूखे गुलाब को गिरते हुए किताब से।

गुलाब की तरह है तुम्हारी मौजूदगी मेरे बाग में,
जब से आई हो महक सी आ गई है मेरी जिंदगी।

चेहरे पर है नूर इतना,
लाखों सूरज की रोशनी जितना,
गुलाब अकेला क्या करेगा,
जब महबूब हो कुदरत की रूहानियत जितना |

ना जाने कितनी दिलो को जोड़ देगा आज,
डाली से टूटकर वो एक फूल गुलाब का।

सिर्फ गुलाब देने से अगर मोहब्बत हो जाती,
तो माली सारे शहर का महबूब बन जाता।

कुछ रिश्ते भी उस गुलाब जैसे होते है,
जरा सा कस कर क्या पकड़ो पूरे बिखर जाते है।

तेरे बगैर किसी और को देखा नही मैंने,
सुख गया तेरा गुलाब लेकिन फेका नहीं मैंने।

तुम्हे याद करूं या तुमसे बात करूं,
अगर तुम चाहो एक सुंदर सा गुलाब गिफ्ट करूं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.